होम ब्लॉग

सड़क और नाले को मनबढ़ों ने किया अवरुद्ध, नए एसडीएम से गांववालों को इन्साफ की उम्मीद।

0

(लोकेश राज सिंह)

मऊ। गत दिनों जनपद के एक गांव ने काफी सुर्खियां बटोरी हैं। सरकारी महकमे में इस गांव कि चर्चाएं आम हैं और यक़ीनन अच्छाइयों की नहीं वरन अपने बुरे रसूख के लिए यह प्रचलित रहा है। इस गांव का नाम है अहिलाद जो परदहा ब्लॉक में पड़ता है। प्रशासन भी इसकी सुध लेने में कोई खास दिलचस्पी नहीं रखता। इसलिए एक मॉडल गांव बनना तो दूर की बात है ये मूलभूत सुविधाओं से भी वंचित है। पिछले कुछ महीनों से गांव कि मुख्य सड़क पूरी तरह से जीर्ण शीर्ण अवस्था में पड़ी है। उस पर से इस बरसात के मौसम में सड़क तालाब में तब्दील हो चुकी है।आवागमन पूर्ण रूप से ठप्प है। कुछ लोग हिम्मत कर अपनी गाडी पानी में उतार तो देते हैं पर सही सलामत उस तालाब को पार कर जाएं इसकी गारंटी नहीं है।सड़क पर जल जमाव का कारण सड़क के बीचो बीच बनाया गया नाला है जिसे कुछ मनबढ़ लोगों ने ईंट और मिटटी डाल कर अवरुद्ध कर रखा है। नाले को खोलने कि कोशिश की जाती है तो मनबढ़ लोग मार पीट पर उतारू हो जाते हैं।जुलाई महीने की 14 तारीख को गांव के ही एक व्यक्ति रामलाल पुत्र सुग्रीव ने एसडीएम अतुल वत्स को एक प्रार्थना पत्र दे कर अवगत करवाया था कि उसके व अन्य 10 से 12 लोगों के नावदान का पानी नाले के जरिये सरकारी पोखरी में जाया करता था जिसे सुखारी चौहान पुत्र स्व रामदेव चौहान और पबारु चौहान पुत्र घरभरन चौहान द्वारा ईंट और मिटटी से पाट कर सार्वजनिक रास्ते और नाले को अवरुद्ध कर दिया गया है। नाला खोलने का प्रयास करने पर रामलाल को मारा पीटा गया। अब जलजमाव से किसी भयानक महामारी फैलने का भय सताता है। इस प्रार्थना पत्र को एसडीएम ने नज़र अंदाज़ कर दिया या हो सकता है किसी बड़े हादसे का इंतज़ार करना बेहतर समझा इसलिए कोई कार्यवाही नहीं की गई। खैर अतुल वत्स का तबादला हो गया और अब जनपद के नए एसडीएम निरंकार सिंह हैं। प्रार्थी रामलाल ने 7 अगस्त को फिर से नए एसडीएम को इस मामले से अवगत कराते हुए प्रार्थना पत्र सौंपा। अब रामलाल की आंखें, एकटक उसी तालाब नुमा सड़क पर, नए एसडीएम साहब की ओर से आने वाले इन्साफ की उम्मीद लगाए बैठी हैं।

नगर का नाला जाम-पानी मोहल्ले में फैला, एसडीएम ने मौके पर पहुँचकर दिलाई निजात

0

रिपोर्ट:संतोष जायसवाल
मुहम्मदाबाद गोहना (मऊ)। मुहम्मदाबाद गोहना नगर पंचायत के वार्ड नंबर तीन- जमीन बरामदपुर दक्षिणी में लगातार बारिश के कारण चौहान बस्ती के पास पानी पूरी तरह से जाम हो गया है। जिसको गंभीरता से लेते हुए उपजिलाधिकारी मोहम्मदाबाद गोहना डॉ सीएल सोनकर मौके पर पहुंचकर देखा तो चारों तरफ वर्षा का पानी जाम था।जिससे लोगों को आने जाने में कठिनाइयां हो रही है।बरसात के पानी से यहां के कई घरों के चारों तरफ वर्षा का पानी पूरी तरह से जाम है। इसके बाद उन्होंने जेसीबी के माध्यम से लगभग डेढ़ से दो सौ मीटर लंबा जो मिट्टी से पूरी तरह से नाला जाम हो गया था,उसे खुदवाकर बरसात के इस चारों तरफ जाम पड़े पानी को निकालना प्रारंभ करवा दिया है। नाले में जाम पड़ी मिट्टी को जेसीबी द्वारा हटा देने के बाद बरसात का पानी धीरे-धीरे नाले के माध्यम से दूसरी तरफ नदी वाले नाले में पानी जाना प्रारंभ हो गया है।
इसको लेकर कुछ दिनों पूर्व मोहल्ले के सभासद इकबाल अहमद ने भी नगर पंचायत प्रशासन को बुलवाकर जाम पड़े पुलिया के पास जेसीबी से मिट्टी खुदवाया था,इसके बावजूद पानी जस का तस चारों तरफ जाम पड़ा रहा।जिसको शनिवार को उपजिलाधिकारी मोहम्मदाबाद गोहना डॉ सीएल सोनकर ने गंभीरता से लेते हुए इस समस्या का समाधान करा दिया। अब पानी धीरे-धीरे निकलना प्रारंभ हो गया है, जो जल्द ही निकल जाएगा।

पत्रकार राकेश चतुर्वेदी के निधन को लेकर पत्रकारों ने सीएम के नाम डीएम को सौंपा ज्ञापन

0

मऊ कलेक्ट्रेट के सभागार में जिलाधिकारी एवं करोना वीर योद्धा श्री ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी को ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के अध्यक्ष हरिद्वार राय एवं महामंत्री, रोटरी क्लब के सचिव प्रदीप सिंह ने संयुक्त रूप से पत्रकारों के साथ अत्याधुनिक मास्क शिल्ड पहनाकर सम्मानित किया।
जबकि दैनिक जागरण समाचार पत्र वाराणसी के वरिष्ठ पत्रकार राकेश चतुर्वेदी के निधन को लेकर मुख्यमंत्री के नाम जिला अधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया  ज्ञापन में मांग किया गया कि उन्हें करुणा योद्धा घोषित करते हुए ₹5000000 मुख्यमंत्री कोष से मुआवजा दिया जाए ताकि पत्रकार परिवार को राहत मिल सके।

टैक्स बार ने फैयाज के बेटे को दिया 1.25 लाख का सहयोग

0

मऊ।  टैक्स बार एसोसिएशन मऊ की ओर से पहली बार संयोजक अमरेश सिंह के नेतृत्व में हाल ही में हम सबके बीच नहीं रहे भाई फैयाज की पत्नी को आज ₹125100/- की नकद धनराशि अधिवक्ताओं ने प्रदान किया है।
टैक्स बार एसोसिएशन के पूर्व संयुक्त मंत्री एवं रोटरी क्लब के सचिव प्रदीप सिंह और वरिष्ठ सदस्य शमीम साहब समेत तमाम अधिवक्ताओं ने मृत फैयाज अधिवक्ता टैक्स बार के पुत्र को भरोसा दिलाया कि भविष्य में भी यदि किसी प्रकार की जरूरत हो तो संगठन को एक बार याद करें ताकि उनकी समस्या का हल संभव निदान किया जा सके अधिवक्ताओं ने उनके आवास पर फैयाज भाई को श्रद्धांजलि अर्पित किया।

कोरोना काल में वरदान साबित हुई प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना

0

• पहली बार गर्भवती हुईं 1295 महिलाओं को जुलाई में मिला लाभ, खिले चेहरे
• पौष्टिक आहार व स्वास्थ्य देखभाल के लिए तीन किस्तों में दिये जाते हैं 5000 रुपये
मऊ। कोरोना काल में कमजोर वर्ग के लोगों की आर्थिक स्थिति पर सीधे तौर पर असर पड़ा है। ऐसे में पहली बार गर्भवती होने वाली महिलाओं के कल्याण के लिए प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना जिसकी शुरुआत जनवरी 2017 में की गई थी, अब वरदान साबित हो रही है। इस योजना का उद्देश्य गर्भवती और गर्भस्थ शिशु को पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराना है। योजना के तहत पहली बार मां बनने वाली गर्भवती के खाते में तीन किस्तों में 5000 रुपये दिए जाते हैं जिससे वह गर्भावस्था में पर्याप्त पोषक आहार ले सकें। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों की मानें तो जुलाई 2020 में 976 लाभार्थियों के सापेक्ष 1295 पात्रों को योजना का लाभ मिला। योजना के तहत आर्थिक सहयोग पाकर महिलायें खुश हुईं और उन्होंने सरकार की इस योजना को सराहा है।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सतीशचंद्र सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अंतर्गत पहली बार गर्भवती हुयी महिला को 5000 रुपये सीधे बैंक के खाते में दिये जाते हैं। कोरोना काल में लोगों की आय पर असर पड़ा है और अन्य प्रांतों से मजदूरों ने घर वापसी की है। उन्होने बताया कि इस योजना का शत प्रतिशत लाभ पात्र गर्भवती को दिलाने के लिए सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के अधिकारियों व कर्मचारियों को प्रायः निर्देशित किया गया है कि कोई भी प्रवासी पात्र लाभार्थी भी इस योजना से वंचित न रहे। गर्भवती व धात्री महिलाओं के सही खान-पान व पोषण की स्थिति में सुधार लाना इस योजना का उद्देश्य है। कोरोना काल में प्रवासी कमजोर वर्ग परिवार सहित स्थानीय गर्भवती के लिए प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना वरदान साबित हो रही है।
योजना के जिला कार्यक्रम समन्वयक विवेक कुमार सिंह ने बताया कि राज्य स्तर से जनवरी 2017 से 31 जुलाई 2020 तक 42,040 लाभार्थियों को लाभ पहुंचाने का लक्ष्य जिले को मिला था जिसमें 39,070 लाभार्थियों को लाभ दिया जा चुका है। कोरोना महामारी के बावजूद जुलाई माह में 976 लाभार्थियो के सापेक्ष 1295 लाभार्थियों को अर्थात 133 प्रतिशत जुलाई में सबसे अधिक लाभ दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग का पूरा प्रयास रहता है कि इस योजना का लाभ शत प्रतिशत पात्र लाभार्थियों तक पहुंचे। प्रत्येक माह लक्ष्य के सापेक्ष शत प्रतिशत लाभ दिलाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है।

तीन किस्तों में मिलते हैं 5000 रुपये

विवेक ने बताया कि योजना के तहत पहली बार मां बनने वाली महिलाओं को पोषण के लिए 5,000 रुपये का लाभ तीन किश्तों में दिया जाता है। पंजीकरण कराने के साथ गर्भवती को पहली किश्त के रूप में 1000 रुपये दिए जाते हैं। प्रसव पूर्व कम से कम एक जांच होने पर गर्भावस्था के छह माह बाद दूसरी किश्त के रूप में 2000 रुपये और बच्चे के जन्म का पंजीकरण होने और बच्चे के प्रथम चक्र का टीकाकरण पूर्ण होने पर तीसरी किश्त में 2000 रुपये दिए जाते हैं।

यह कहना है लाभार्थियों का….

रतनपुरा ब्लाक के अईलख गाँव की सीमा देवी ने बताया कि इस मुश्किल घड़ी में प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत गर्भावस्था के कठिन समय में उन्हें अतिरिक्त पोषण व भोजन की आवश्यकता थी। तब तीन बार में 5000 रुपये मिले जिसकी तीसरी किस्त जुलाई में मिली है। इससे उनके इलाज और खान-पान में बहुत सहायता मिली है। वहीं लाभार्थी अंजू देवी ने बताया कि उन्हें प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। लेकिन आशा माया मिश्रा दीदी ने योजना के बारे में बताया और योजना के तहत तीन किस्तों में 5000 रुपये का लाभ भी दिलाया है। वर्तमान में जब सब काम धंधा बन्द हो गया है, ऐसे में यह योजना बहुत ही लाभदायक साबित हुयी है।

कैसे मिलेगा योजना का लाभ

सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर कार्यरत प्रभारी चिकित्साधिकारी की निगरानी में गांव व वार्ड की आशा कार्यकर्ता, आशा संगिनी, एएनएम, बीसीपीएम/बीपीएम के माध्यम से फार्म भरा जाता है। लाभार्थियों को इस योजना का लाभ पाने के लिए मुख्य रूप से मातृ एवं शिशु सुरक्षा (एमसीपी) कार्ड, आधार कार्ड और खाता की पासबुक की फोटो कॉपी फार्म भरते समय जमा करना होता है।

प्रेम प्रसंग में आशिक ने किया हवाई फायरिंग, पुलिस ने आशिक को पकड़ा

0

रिपोर्ट:संतोष जायसवाल
मुहम्मदाबाद गोहना (मऊ)। मुहम्मदाबाद गोहना कोतवाली क्षेत्र के खैराबाद बाजार में शुक्रवार को सुबह एक मनचले युवक ने मोहल्ले के एक व्यक्ति के घर में घुसकर कट्टे से हवाई फायरिंग किया। फायरिंग की आवाज पर आस पास के लोग इकट्ठा हो गए। पुलिस को जानकारी मिलने पर पुलिस ने मौके पर पहुँचकर उसे पकड़कर कोतवाली ले आयी।जनचर्चा के अनुसार मामला प्रेम प्रसंग का बताया जा रहा है।
जानकारी के मुताबिक कोतवाली क्षेत्र के खैराबाद बाजार में शिया समुदाय की एक परिवार की लड़की से सुन्नी समुदाय के लड़के से वर्षों से प्रेम प्रसंग चल रहा था, कुछ दिन पूर्व शिया समुदाय की लड़की को उसके पिता द्वारा किसी दूसरे के साथ शादी कर देने की जानकारी मिलते ही शुक्रवार को प्रातः मकसूद् पुत्र अबरार निवासी सिधारी आजमगढ़ सुबह लड़की के घर आ धमका एवं शादी के बात को लेकर एक दूसरे से कहाँ सुनी होने लगी।जिस पर लोगो की भीड़ गयी। इसी बीच इस युवक द्वारा अपने कट्टे से हवाई फायरिंग कर दिया। जिससे अफरातफरी मच गई। युवक ने मौका पाकर कट्टे की मुठिया से लड़की के भाई के सिर में मारकर चोटिल कर दिया। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर प्रभारी निरीक्षक मोहम्मदाबाद गोहना नीरज पाठक, चौकी प्रभारी खैराबाद ओम सिंह पहुंच गए तथा पुलिस ने प्रेमी को पकड़ कर कोतवाली लायी। बाद में लड़की के तहरीर पर पुलिस ने संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

युवती की पोखरे में डूबने से मौत

0

रिपोर्ट:संतोष जायसवाल
मुहम्मदाबाद गोहना (मऊ)। मुहम्मदाबाद गोहना कोतवाली क्षेत्र के तुलसीपुर कुड़वा गांव में शुक्रवार को सुबह लगभग 6 बजे एक युवती की गांव के बगल में स्थित पोखरे में डूबने से मौत हो गई।
परिजनों के कथनानुसार तुलसीपुर कुड़वा गांव निवासी 17 वर्षीय प्रियंका पुत्री हरिबंश जिसका मानसिक संतुलन ठीक न होने के कारण शुक्रवार को सुबह लगभग 6 बजे गांव के बगल में स्थित पोखरे में कूद गयी,जिससे उसकी पोखरे में डूबने से मौत हो गई। युवती को पोखरे में कूदते समय गांव का एक व्यक्ति देखा तो भागते हुए उसके घर गया और परिजनों को बताया। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे परिजन काफी मशक्कत के बाद युवती के शव को पोखरे से बाहर निकाले। घटना की जानकारी पर परिजनो में कोहराम मच गया। सूचना पाकर मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने शव का पंचनामा बनवाकर परिजनों को सौप दिया। सुबह हुई इस घटना को लेकर गाँव में तरह तरह की चर्चा हो रही है।

कल्पनाथ राय ने कभी जाति धर्म की सियासत नहीं की:सुरेश बहादुर सिंह

0

जनपद के सृजनकर्ता एवं विकास पुरुष पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. कल्पनाथ राय की मनाई गई 21वीं पुण्यतिथि

मऊ। जनपद के सृजनकर्ता एवं विकास पुरुष पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. कल्पनाथ राय की 21वीं पुण्यतिथि 6 अगस्त 2020 को कल्पनाथ राय स्मृति संस्थान एवं श्रीमती रामरति देवी सीनियर सेकेंडरी स्कूल के संयुक्त तत्वावधान में जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में धूमधाम से मनाई गई। सबसे पहले 10 बजे अखिल भारतीय महिला कांग्रेस कमेटी की  पूर्व उपाध्यक्ष डा. सुधा राय के आवास पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम प्रारंभ हुआ। उसके बाद जिला चिकित्सालय में स्थित मूर्ति पर माल्यार्पण किया गया, जिसके आयोजक पीसीसी सदस्य माधवेंद्र बहादुर सिंह, कमलेश सिंह एवं अरुण तथा सुभाष प्रमुख रहे। कोपागंज स्थित मूर्ति पर माल्यार्पण एवं श्रद्धांजलि दी गई, जिसके आयोजक अल्पसंख्यक कांग्रेस के जिला अध्यक्ष समी उल्लाह अंसारी प्रहलाद राय, रत्नेश राय प्रमुख रहे। उसके बाद कल्पनाथ राय के पैतृक गांव सेमरी जमालपुर में स्थित मूर्ति पर माल्यार्पण कार्यक्रम के आयोजक पूर्व ब्लाक अध्यक्ष रामनिवास राय थे। इसी क्रम में पतीला गांव में स्थित मूर्ति पर माल्यार्पण एवं श्रद्धांजलि दी गई। कार्यक्रम के आयोजक शिक्षक नेता स्वामी नाथ राय एवं विनोद कुमार राम थे। अंत में श्रीमती राम रती देवी सीनियर सेकेंडरी स्कूल ललितपुर लुदुही में स्थित मूर्ति पर माल्यार्पण के पश्चात वृक्षारोपण कार्यक्रम संपन्न हुआ। तत्पश्चात विद्यालय प्रांगण में श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व उपाध्यक्ष सुरेश बहादुर सिंह ने कहा कि कल्पनाथ राय ने राजनीति में रचना, सृजन और विकास की जो धारा बहाई उससे उनके चिंतन की ख्याति पूरे देश में फैल गई। उन्होंने कहा कि स्वर्गीय राय ने कभी जाति धर्म की सियासत नहीं की आज के जनप्रतिनिधियों को उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए। कहा कि पूर्वांचल के जर्रे-जर्रे में कल्पनाथ राय द्वारा किए गए कार्यों की निशानी आज भी जनपदवासियों को उनके होने का एहसास कराती है। श्रद्धांजलि कार्यक्रम का संचालन प्रधानाचार्य योगेंद्र ओझा ने किया और कल्पनाथ राय के जीवन पर विस्तार से प्रकाश डाला। इस अवसर पर श्रद्धांजलि सभा को पूर्व जिला अध्यक्ष अवनीश कुमार सिंह, रविंद्र नाथ त्रिपाठी, वीरेंद्र तिवारी, माधवेंद्र बहादुर सिंह, मन्नान खा, डॉक्टर सुरेश सिंह, डॉक्टर रविंद्र नाथ मिश्र, प्राचार्य मनोज सिंह, जय हिंद यादव, पूर्व ब्लॉक प्रमुख मुस्ताक अली, सुरेश पासी,  रमाशंकर चैहान, संजय सिंह आदि मौजूद रहे।

उत्तराखंड में पत्रकारों पर दर्ज हुए राजद्रोह के मुकदमे को वापस किये जाने की मांग को लेकर जनपद के टीवी चैनल के पत्रकारों में उबाल

0

मऊ। जनपद में आज पत्रकारों ने उत्तराखंड सरकार और सीएम उत्तराखंड द्वारा पत्रकारों की आवाज दबाने के लिए पत्रकारों पर गैर कानूनी तरीके से राजद्रोह का मुकदमा दर्ज करने के खिलाफ पूरे उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में जगह जगह धरने प्रदर्शन हो रहे हैं। इसी कड़ी में आज ग़ज़ियाबाद में पत्रकारों ने जिला मुख्यालय पर मूक प्रदर्शन किया और जिलाधिकारी कार्यालय पंहुचकर सिटी मजिस्ट्रेट को राष्ट्रपति के लिए संबोधित ज्ञापन पत्रकारों ने राष्ट्रपति के मांग की है कि उत्तराखंड में पत्रकारों पर दर्ज किए गए राजद्रोह के मुकदमे तुरंत वापस किए जाएं और इस षड्यंत्र में शामिल लोगों की जांच की जाए।

मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है। भारत में मीडिया ने लोकतांत्रिक परंपराओं और जनतंत्र की रक्षा के लिए हमेशा महत्वपूर्म योगदान दिया। लोकतंत्र के रक्षक और समाज के सजग प्रहरी के रूप में पत्रकार अपनी भूमिका का सफलता पूर्वक निर्वहन कर रहे हैं। किंतु कुछ वर्षों से उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत लगातार पत्रकारों की आवाज रोकते आ रहे हैं और राजद्रोह जैसी धाराओं का सहारा लेकर पत्रकारों पर मुकदमा दर्ज करा रहे हैं, जो कि लोकतंत्र के खिलाफ है । उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत निजी तौर पर भी संगीन धाराओं के तहत पुलिस पर दवाब बनाकर कई पत्रकारों को जेल भेज चुके हैं।
अब उत्तराखंड सरकार ने निजी न्यूज चैनल के मुख्य संपादक श्री उमेश कुमार और वरिष्ठ पत्रकार राजेश शर्मा एवं एसपी सेमवाल व अन्य लोगों के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किया है।
उत्तराखंड सरकार के इस दमनकारी रवैया के खिलाफ मऊ में पत्रकारों ने मूक प्रदर्शन किया और जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचकर राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपा। उत्तराखंड के सीएम सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर राजद्रोह जैसी संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज करा रहे हैं जो कि सर्वथा गलत है। उन्होंने मांग उठाई कि राष्ट्रपति इस मामले की जांच किसी अन्य एजेंसी से कराएं ताकि सच सामने आ सके इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार रविन्द्र सैनी, दीपक गुप्ता, अभिषेक राय, विनय श्रीवास्तव, कमलेश कुमार मौजूद थे।

डॉ. सी एल सोनकर मुहम्मदाबाद गोहना के पुनः बने एसडीएम

0

रिपोर्ट:संतोष जायसवाल

मुहम्मदाबाद गोहना (मऊ)। स्थानीय तहसील में तैनात उप जिलाधिकारी डॉ सी एल सोनकर का तबादला विगत दिवस अतिरिक्त मजिस्ट्रेट मऊ हो जाने के पश्चात कुछ दिनों के लिए ज्वाइंट मजिस्ट्रेट डॉ अंकुर लाठर की तैनाती एसडीएम के रूप में की गई थी। तत्पश्चात इनका तबादला अतिरिक्त जिला मुख्य विकास अधिकारी के पद पर हो जाने के पश्चात मोहम्मदाबाद गोहना एसडीएम का पद खाली पड़ा हुआ था। जहां दोबारा ईमानदार व्यक्तित्व के अधिकारी डॉ सी एल सोनकर को दोबारा स्थानीय उप जिलाधिकारी का पदभार अग्रिम आदेश तक जिलाधिकारी द्वारा अनुमोदन किया गया है। बुधवार को एसडीएम डॉ सी एल सोनकर ने बताया कि हमेशा सच्चे व्यक्ति की पहचान सही समय पर ही होती है और उसकी कद्र हमेशा बनी रहती है। आप सभी लोगों का सहयोग चाहिए।